Sabke Leye Avas Online Form (सबके लिए आवास शहरी योजना) 2016

No Comments

सबके लिए आवास(शहरी) योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन फार्म

कृपया आवेदन करने से पूर्व सभी निर्देश पढ़ें
आवेदन की अंतिम तिथि-(ऑनलाइन- 31 अक्टूबर 2016) (ऑफलाइन- 15 अक्टूबर 2016) ऑफलाइन आवेदन 15 अक्टूबर 2016 के बाद स्वीकार नहीं किया जायेगा। पंजीकरण की पुष्टि करने के दौरान यदि किसी हितग्राही का आधार कार्ड और हस्ताक्षर प्रदर्शित नही हो रहा है या गलत आधार कार्ड और हस्ताक्षर प्रदर्शित हो रहा है तो सम्बन्धित दस्तावेज अन्तिम तिथि से पूर्व पुनः अपलोड करके प्रिन्ट आउट सुरक्षित करें।



ऑनलाइन आवेदन हेतु सुझाव

Step-1:ऑनलाइन आवेदन करने हेतु सर्वप्रथम "ऑनलाइन आवेदन करें" बटन पर क्लिक करे।
आवेदन फार्म खुलने पर सभी बिन्दुओं को सही सही भरे एवं आवेदन करे पर क्लिक करें।
Step-2:"परिवार का विवरण भरें" बटन पर क्लिक करें एवं परिवार के मुखिया का आधार नं0 दर्ज करें।
आधार नं0 दर्ज करने पर प्राप्त फार्म सही सही भरें एवं परिवार के सभी सदस्यों का विवरण सबमिट करे।

Step-3:आधार कार्ड एवं हस्ताक्षर के फोटो अपलोड करना अनिवार्य हैं अन्यथा आपका आवेदन निरस्त माना जायेगा।
Step-4:पंजीकरण की पुष्टि के लिय "पंजीकरण की पुष्टि करें" बटन पर क्लिक कर पंजीकृत हितग्राहि का विवरण पंजीकृत आधार कार्ड सं0 से प्राप्त करें।

समस्याओं एवं सुझावों हेतु ईमेल(Email: info@hfaup.org)पर संपर्क करें।

योजना की मुख्य बातें

योजना के कुल चार घटक हैं जो निम्नवत हैंः
(1)झोपड़पट्टी पुनःवासन-पी0पी0पी0 ः निजी भागीदारी द्वारा जमीन को संसाधन के रूप में प्रयोग कर हाल में झोपड़पट्टी मे रहने वाले लोगो के मूल स्थान पर पुनः वासन कर पक्का आवास दिया जायेगा। निजी विकासकार का अतिरिक्त एफाआईएस/टीडीआर का लाभ दिया जा सकता है व प्रति आवास रुपये 1.67 लाख की सहायता दी जायेगी ।
(2)ऋण आधारित सब्सिडी (क्रेडिट लिंक सब्सिडी) ः ई.डब्ल्यूएस एवं एलाआईजी प्रकार के अवास के नये मकान या वृध्दि के लिये लोन की रकम पर सब्सिडी एवं आवासों के लिये रु0 6 लाख पर 6.5प्रतिशत की ब्याज दर से अग्रिम सब्सिडी के आधार पर दी जायेगी। ऋण की आधिकतम अवधि 15 साल मानी जायेगी।

(3)एफ़ॉर्डेबल होउसिंग इन पर्टनरशिपः पैरास्टेटल एजेन्सी सहित निजी या सरकारी क्षेत्र के साथ, जिसमें न्यूनतम 250 आवास होने चाहिये, जिसमे से 35 प्रतिशत आवास इ.डब्ल्यू.एस श्रेणी के आरक्षित होंगे। इसमे आवास का विक्रय मूल्य निर्धारित होगा और लाभार्थी को विक्रय मूल्य मे रु0 2.50 लाख की छूट दी जायेगी।

(4)लाभार्थी द्वारा स्वयं आवास निर्माण या आवास के विस्तार वृध्दि के लिये सब्सिडीः व्यक्तिगत आवास निर्माण के लिये ई.डब्ल्यू.एस. वर्ग के लाभर्थियों को प्रति लाभार्थी 2.5 लाख प्रति को सहायता दी जायेगी एवं आवास विस्तार वृध्दि के लिये अधिकतम 2.5 लाख की सहायता दी जायेगी।

नोटःकोई भी लाभर्थी ऊपर योजना के चारों घटक में से केवल एक ही घटक के तहत लाभ ले पायेगा। बिन्दु नं0 2,3, व 4 पर उल्लिखित घटकों के लिये लाभार्थी को प्रपत्र-4ख भरना है व भरकर प्रत्येक दशा मे दिनांक 09.09.2016 तक सम्बन्धित डूडा कार्यालय या नगर निगम/नगर पलिका/नगर पंचायत के कार्यालय मे जमा करना है अन्यथा उक्त योजना का लाभ वर्ष 2022 तक नही ले पायेगा

Post a Comment
loading...