WELCOME TO SahajJanSeva.Com >>Dear All, Wish U And Your Family A Very Happy Fastival<<< TODAY’S BEST OFFERS DEALS COUPON CODE & DEAL OF THE DAY .
kamakhya Devi Mandir: कामाख्या मन्दिर कब और कैसे जाये

kamakhya Devi Mandir: कामाख्या मन्दिर कब और कैसे जाये

No Comments

kamakhya Devi Mandir: कामाख्या मन्दिर कब और कैसे जाये

कामाख्या मंदिर असम की राजधानी दिसपुर के पास गुवाहाटी से ८ किलोमीटर दूर कामाख्या में है। कामाख्या से भी १० किलोमीटर दूर नीलाचल पव॑त पर स्थित हॅ। यह मंदिर शक्ति की देवी सती का मंदिर है। यह मंदिर एक पहाड़ी पर बना है व इसका महत् तांत्रिक महत्व है। प्राचीन काल से सतयुगीन तीर्थ कामाख्या वर्तमान में तंत्र सिद्धि का सर्वोच्च स्थल है। पूर्वोत्तर के मुख्य द्वार कहे जाने वाले असम राज्य की राजधानी दिसपुर से 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नीलांचल अथवा नीलशैल पर्वतमालाओं पर स्थित मां भगवती कामाख्या का सिद्ध शक्तिपीठ सती के इक्यावन शक्तिपीठों में सर्वोच्च स्थान रखता है।

कामाख्या मन्दिर कब और कैसे जाये

आपको कामाख्या मंदिर  ट्रेन से जाने के लिए  Guwahati railway स्टेशन आना होगा वहा से  ८ किलोमीटर दूर कामाख्या है  कामाख्या से भी १० किलोमीटर दूर नीलाचल पव॑त पर स्थित हॅ नीलाचल पव॑त पर ही कामाख्या मन्दिर है 

मंदिर परिसर के आस-पास बहुत से ठहरने का निवास स्थान हैं,जो सशुल्क है। खाने-पीने हेतु कई अच्छे श्रेणी के रेस्टोरेंट हैं, लेकिन यहाँ तम्बाकू सेवन वर्जित है । आप कामाख्या स्टेशन से ऑटो द्वारा या बस सेवा द्वारा मंदिर तक पहुंच सकते हैं, जो प्रत्येक 10 मिनट पर मिल जाएगा ।

सामान्य पंक्तिबद्ध रूप से दर्शन करने हेतु सुबह 5 बजे से पंक्ति में लगकर 8 बजे सुबह से दर्शन कर सकते है, जिसमें आपको लगभग 4 घंटे समय लगेगा । पंक्तिबद्ध होने की यह व्यवथा शाम 4 बजे तक और दर्शन की समयावधि रात्रि 8 बजे तक रहती है । इसके अलावा अगर आप 1 घंटे में दर्शन करना चाहते हैं तो आपको 501 रुपये का स्पेशल दर्शन टिकट लेना होगा, जो सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक रहती है ।

Kamakhya mandir saal me sirf 22-25 June tak bandh rehta he. Mandir ka dwaar morning 7:00 am ko hi khul jata he. afternoon 1:00-2:30 pm mandir me maa ko bhog lagane k kaaran mandir ka dwaar bandh kar diya jata he. 2:30 pm se sun set hone tak fir se mandir ka dwaar khula rehta he. Mandir k darshan karne k liye 501/- ka special ticket ka byabastha he. Mandir khulte hi ye ticket counter bhi khol diya jata he. Lekin ye ticket counter bandh hone ka koi fix time nahi hota he. Ye ticket counter bandh hone ka time general (free) line k upar depend karta he. Defence personnel ka ticket counter morning 7:00-8:00 am tak & afternoon 3:00-3:30 pm tak khula rehta he. Sunday afternoon ko defence ticket counter bandh rehta he.

Rail Ticket Cancellation Charges : रेलवे टिकट Cancell कराने पर कितना चार्ज कटता है?

No Comments

Rail Ticket Cancellation Charges

Rail Ticket Cancellation Charges : रेलवे  टिकट Cancell कराने पर कितना चार्ज कटता है?

For cancellation of Confirmed Tickets more than 48 hours advance of the scheduled departure of the train.

Flat cancellation charges per passenger:-
  • AC first/Executive class - Rs.240/-
  • AC-2tier/1st class - Rs.200/-
  • AC-3tier/AC chair car, AC-3Economy - Rs.180/-
  • Sleeper - Rs.120/-
  • Second class - Rs.60/-
For cancellation of confirmed tickets less than 48 hrs and upto 12 hrs before the scheduled departure of the train, the cancellation charges will be 25% of the total fare paid by you subject fo minimum flat cancellation charge.

For cancellation of confirmed tickets less than 12 hrs before the scheduled departure of the train and upto 4 hrs before the scheduled departure of the train, the cancellation charges will be 50% of the fare paid by you, subject to minimum flat cancellation charges for each class.

For cancellation of RAC/Waitlisted tickets if ticket is presented for cancellation upto half an hour before the scheduled departure of the train irrespective of distance, Full refund of fare will be given, after deducting the clerkage charge per passenger

अगर आप कन्फर्म टिकट ट्रेन के निर्धारित समय से 48 घंटे पहले तक कैंसिल कराते हैं तो AC फर्स्ट क्लास/एग्जीक्यूटिव क्लास के 240 रुपए का चार्ज लगेगा। वहीं सेकेंड AC 2 टायर/ फर्स्ट क्लास के लिए 200 रुपए रुपए चार्ज लगेगा। AC 3 टायर/AC 3 इकॉनोमी/ AC चेयर कार के लिए 180 रुपए देने होंगे। वहीं स्लीपर क्लास के लिए 120 रुपए और सेकेंड क्लास के लिए 60 रुपए देने होंगे। यह चार्ज प्रति यात्री होता है। अगर एक टिकट में 2 यात्रियों का रिजर्वेशन है तो दोनों को अलग अलग चार्ज देना होगा।

Senior Citizens Concession :रेलवे मे सीनियर सिटिज़न को मिलने वाला डिस्काउंट

No Comments

 Senior Citizens Facilities & Concession

रेलवे मे सीनियर सिटिज़न को क्या और कब डिस्काउंट मिलता है?

Senior Citizens Concession :रेलवे मे सीनियर सिटिज़न को मिलने वाला डिस्काउंट

The following facilities have been extended from time to time Senior citizens
  • As per rules, Male senior citizens of minimum 60 years and Lady senior citizens of minimum 58 years are granted concession in the fares of all classes of Mail/Express/Rajdhani/Shatabdi/Jan-Shatabdi/Duronto group of trains. The element of concession is 40% for men and 50% for women.

  • In the computerized Passenger Reservation System(PRS) there is a provision to allot lower berths to Senior Citizens, Female passengers of 45 years and above automatically, even if no choice is given, subject to availability of accommodation at the time of booking.

  • In all trains having reserved accommodation, a combined quota of two lower berths per coach has been earmarked in Sleeper, AC 3 tier and AC 2 tier classes for the following category of passengers when travelling alone:-
    1. Senior Citizens;
    2. Female passengers aged 45 years and above; and
    3. Pregnant women.
SahajJanSeva.Com- Latest Jobs I Admit I Card Result I Certificate Verification

SahajJanSeva.Com- Latest Jobs I Admit I Card Result I Certificate Verification

No Comments

ARSHKALP VATI: बवासीर की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा

No Comments

ARSHKALP VATI: बवासीर की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा 

Arshkalp Vati is a time-tested medicine for piles, haemorrhoids and fistula. It is made from a combination of herbal extracts that have the capacity to heal inflammations and soothe pain and discomfort. Arshkalp Vati also has laxative properties that induce peristaltic movements thus making evacuating of bowels pain-free. It improves digestion, reduces gas formation and discomfort. Don't let constipation and piles hold you back from enjoying life. Take ArshkalpVati for soothing and enduring recovery with Ayurvedic therapy.


ARSHKALP VATI: बवासीर की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा

Benefits
Useful in haemorrhoids, fistula, etc. This prevents pricking, burning and pain caused by piles

  • Ingredients
  • Rasottsudh (berberisaristata) 
  • Harar small (terminaliachebula) 
  • Bakayan (melia azedarach) 
  • Nimoli (azadirachtaindica) 
  • Reetha (sapindusmukorossi) 
  • Kapoor desi (cinnamomumcamphora) 
  • Khunkharaba (daemonoropsdraco) 
  • Makoy (solanum nigrum) 
  • Ghritkumari (aloe barbadensis) 
  • Nagddon (artemisia vulgaris) 
  • How to use

     Take 1 or 2 tablets twice a day ½ hour before meals with water or buttermilk on an empty stomach, depending upon the seriousness of the disease

    ARSHKALP VATI: बवासीर की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा 

    दिव्य अर्शकल्प वटी में मौजूद जड़ी-बूटियां पुरानी से पुरानी बवासीर के उपचार के लिए बहुत लाभदायक हैं। यह औषधि bleeding and non-bleeding दोनों तरह की वबासीर को दूर करती हैं इसके अलावा इनका कोई दुष्प्रभाव नही होता।

    दुष्प्रभाव (Side Effects)

    यदि दिव्य अर्शकल्प वटी का प्रयोग व सेवन निर्धारित मात्रा (खुराक) में चिकित्सा पर्यवेक्षक के अंतर्गत किया जाए तो अर्शकल्प वटी के कोई दुष्परिणाम नहीं मिलते। अधिक मात्रा में अर्शकल्प वटी के साइड इफेक्ट्स की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।

    Aloe vera Uses: एलोवेरा के फायदे जान कर हैरान रह जाओगे आप

    No Comments

    एलोवेरा के फायदे जान कर हैरान रह जाओगे आप 

    एलोवेरा के रस में कई गुण पाए जाते हैं जैसे १८ अमीनो एसिड ,१२ विटामिन और २० खनिज पाए जाते है। इसके अलावा कई अन्य यौगिक तत्व भी इसमें पाए जाते हैं। आइये जानते हैं एलोवेरा के गजब के फायदे

    १.  यह शरीर में खून की कमी को दूर करता है और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। यह जितना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए लाभप्रद होता है उतना ही आपके बालों और त्वचा के लिए भी। आइए जानें ऐलोवेरा का हमारे स्‍वास्‍थ्‍य पर कितना अच्‍छा प्रभाव पड़ता है।
    २.एडॉप्टोजेन मानव शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने और वातावरण में होने वाले बदलावों के प्रभाव को तेजी से शरीर में ढालता है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में बदलते हुए खान-पान का असर सीधे हमारी हेल्थ पर पड़ता है। एलोवेरा में पाए जाने वाले पॉलिसैचेराइड्स, वायरस से लड़कर कई प्रकार की बीमारियों से शरीर को सुरक्षित रखते हैं। एलोवेरा का जूस आपके शरीर को तनाव से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है। इसके अलावा आपको बीमारी से बचाने में सहायक तो होता ही है। साथ ही मानसिक शांति भी प्रदान करता है।
    ३. शरीर में पेट संबंधी कोई भी बीमारी हो तो आप 20 ग्राम एलोवेरा के रस में शहद और नींबू मिलाकर सेवन करें। यह पेट की बीमारी को दूर तो करता ही है। साथ ही साथ पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है।
    ४.हमारे शरीर में मोटापा होने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल तेजी से बढ़ता है। इसी कोलेस्ट्रॉल को कम करने में एलोवेरा सबसे महत्वपूर्ण रूप से काम करता है।
    ५.एलोवेरा के जूस का सेवन करने से शरीर में होने वाले पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है। एलोवेरा के जूस में कई रासायनिक गुण खनिज कैल्शियमजस्ता, तांबा, पोटेशियम, लोहा, सोडियम, मैग्नीशियम, क्रोमियम और मैंगनीज प्रचुर मात्रा में पाया जाता है और इसमें विटामिन केगुण भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। एलोवेरा का रस बवासीर और डायबिटीज जैसी परेशानियों से निजात दिलाने में मदद करता है। 
    ६. अगर आपके बाल जड़ से खत्म हो रहे हैं, तो इसका रस नियमित सिर पर लगाते रहने से नए बाल आने लगते है।
    ७. खांसी में एलोवेरा का रस दवा का काम करता है। इसके पत्ते को भूनकर रस निकाल लें और आधा चम्मच जूस एक कप गर्म पानी के साथ लेने से नजले-खांसी में फायदा होता है।अथवा बच्चों में हो रही सर्दी, जुकाम या खांसी पर 5 ग्राम एलोवेरा के ताजे रस में शहद मिलाकर सेवन कराएं। इससे बच्चों को फायदा होगा। एलोवेरा के गूदे का सेवन रोज करने से शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर किया जा सकता है।
    ८.एलोवेरा का रस सनस्‍क्रीन का काम करता है। धूप में निकलने से पहले एलोवेरा का रस अच्छी तरह से अपनी त्वचा पर लगाने से सूर्य की हानिकारक किरणें आपकी त्‍वचा को नुकसान नहीं पहुंचा पातीं।
    ९.एलोवेरा अपने एंटी बैक्टेरिया और एंटी फंगल गुण के कारण घाव को जल्दी भरता है। चोट लगने या जलने पर इसका जेल निकाल कर लगाने से आराम मिलता है। जलने के तुरन्‍त बाद इसके जेल को लगा लेने से छाले नहीं पड़ते और साथ ही जलन भी समाप्‍त हो जाती है।
    १०. एलोवेरा कैंसर जैसे खतरनाक रोगों से लड़ने की क्षमता रखता है।
    खास बात - एलोवेरा की तासीर गर्म होती है इसलिए गर्भावस्था या मासिक धर्म के दौरान इसे लेने से बचें।
    आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा ? अपने अनुभव हमारे साथ जरूर शेयर करे |
    धन्यवाद |

    Health Tips: सुबह खाली पेट गर्म पानी पीने के फायदे

    No Comments

    सुबह खाली पेट सिर्फ एक ग्लास गर्म पानी पीने के फायदे जानकर हैरान रह जाओगे आप 

    क्या आप जानते है अगर आप रोजाना सुबह उठाकर खाली पेट एक ग्लास गर्म पानी पियेंगे तो क्या होगा? आज हम आपको इसी चीज के बारे में बताने जा रहे है
    Health Tips: सुबह खाली पेट गर्म पानी पीने के फायदे


    अगर आप रोजाना सुबह उठाकर एक ग्लास गर्म पानी पियेंगे तो पेट से जुड़े कई रोग जड़ से समाप्त हो जायेंगे| अगर आप पेट गैस, एसिडिटीकब्जपेट दर्द इत्यादि जैसी समस्याओं से परेशान है| तो रोजाना सुबह उठाकर एक ग्लास गर्म पानी पिए| इससे आपको काफी फायदा मिलेगा

    गर्म पानी शरीर का वजन घटाने में काफी मदद करता है| अगर नियमित रूप से रोजाना गर्म पानी पीया जाए तो इससे शरीर में मेटाबोलिस्म बढ़ता है| जो शरीर में जमी चर्बी को गलाने में मदद करता है|

    अगर आप सुबह पेट अच्छे से साफ़ ना होने से परेशान है| तो रोजाना सुबह खाली पेट एक ग्लास हल्का गर्म पानी पिए| इससे पेट अच्छे से साफ़ हो जाता है| अगर इससे भी पेट साफ़ ना हो तो उसमे एक चम्मच शहद मिलाकर पिए फिर थोड़ी देर टहले| इससे आपका पेट बिलकुल अच्छी तरीके से साफ़ हो जाएगा|


    Health Tips: कोहनी और घुटनों का कालापन दूर करने का आसान उपाय

    No Comments

    हमेशा के लिए दूर हो जाएगा कालापन

    Health Tips: कोहनी और घुटनों का कालापन दूर करने का आसान उपाय

    कोहनी और घुटनों का कालापन दूर करने के लिए आपको एक नुम्बू की आवश्यकता होगी| अगर आप रोजाना रात को सोते समय निम्बू के रस से कोहनी और घुटनों पर मालिश कर छोड़ देते है| तो कुछ ही दिनों में आपके घुटने और कोहनी गोरा और मुलायम हो जायेंगे| इसके अलावा आप खीरे और इमली का को मिलाकर घुटनी और कोहनी पर लगाकर 10 मिनट तक छोड़ दे और फिर धो ले| इससे आपको कुछ ही दिनों में फर्क नजर आने लगेगा|

    Health Tips: मीट और अंडे से भी ज़्यादा प्रोटीन मिलता है इस छोटी सी चीज़ मे

    No Comments

    Health information

    मीट और अंडे मे प्रोटीन भरपूर मात्रा मे होता है लेकिन क्या आप जानते है 'मूंगफली' मे मीट और अंडे के मुकाबले कई गुना अधिक प्रोटीन और अन्य पोषक तत्व होते है. मूंगफली मे ऐसे कौन से गुण है जिसकी वजह से इसने मीट और अंडे को भी पीछे छोड़ दिया है.


    1 - मूंगफली मे मांस की तुलना मे 2.3 गुना और अंडे की तुलना मे 2.5 गुना अधिक प्रोटीन होता है.
    2 - 100 ग्राम कच्ची मूंगफली खाना, 1 लीटर दूध पीने के बराबर होता है.
    3 - श्वास के मरीजों के लिए भी मूंगफली खाना फायदेमंद होता है.
    4 - मूंगफली मे जितना प्रोटीन और एनर्जी होती है. उतनी अंडे मे भी नहीं होती है.
    5 - मूंगफली दूध, घी और बादाम की कमी को पूरा कर देती है.
    6 - 250 ग्राम भुनी हुई मूंगफली खाने से हमारे शरीर को जितने खनिज और विटामिन्स मिलते है. उतना 250 ग्राम चिकन खाने से भी नहीं मिलता है.
    7 - मूंगफली मे पाया जाने वाला प्रोटीन दूध से मिलता है और चिकनाई घी से मिलती है.
    8 - मूंगफली गर्म होती है इसलिए जिन लोगो को गर्म चीज़ खाने से परेशानी होती है वो इसका सेवन कम करे.